MP पंचायत चुनावः निर्वाचन आयोग ने उम्मीदवारों को लेकर जारी किए यह निर्देश, यहां जानिए पूरी जानकारी


भोपालः मध्य प्रदेश में पंचायत चुनाव की तैयारियां तेजी से चल रही है, बताया जा रहा है कि निर्वाचन आयोग कभी भी पंचायत चुनाव की तारीखों का ऐलान कर सकता है कि क्योंकि आयोग ने चुनाव की तैयारियों को लगभग अंतिम रुप दे दिया है. ऐसे में निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनाव में उम्मीदवारों को लेकर भी अधिकारियों को दिशा निर्देश देने शुरू कर दिए हैं. क्योंकि इस बार जिला पंचायत सदस्य और जनपद पंचायत सदस्य के लिए ऑनलाइन नामांकन दाखिल किए जाएंगे. ऐसे में निर्वाचन आयोग ने  ऑनलाइन नामांकन प्रक्रिया में दस्तावेजों को लेकर आधिकारियों को दिशा निर्देश दिए हैं. 

जिला और जनपद के लिए ऑनलाइन होंगे नामांकन 
दरअसल, जिला पंचायत और जनपद पंचायत पद के लिए इस बार प्रत्याशी ऑनलाइन नामांकन फॉर्म जमा कर सकते हैं. ऐसे में नामांकन फॉर्म में चुनाव लड़ने के वाले आवेदकों को क्या-क्या जानकारी पोर्टल पर देनी होगी, इसकी तैयारी अभी से पोर्टल पर दी जानी शुरू हो गई हैं. हालांकि यह जरुरी नहीं है कि नामांकन ऑनलाइन ही जमा किया जाए, बल्कि नामांकन ऑफलाइन भी जमा कर सकते हैं. जबकि सरपंच पद के लिए नामांकन ऑफलाइन ही जमा होंगे. 

ऑनलाइन नामांकन में देनी होगी यह जानकारियां 
ऑनलाईन नामांकन MP online और लोक सेवा केंद्रों के माध्यम से जमा किए जा सकते हैं. इस बार अभ्यर्थी को ऑनलाईन नामांकन में बहुत सी जानकारियां देनी होगी जो इस प्रकार हैं.

  • अभ्यर्थी का शपथ पत्र
  • प्रस्तावक का मतदाता सूची में नाम दर्ज होने की पूरी जानकारी 
  • आपराधिक प्रकरणों की जानकारी 
  • चल-अचल संपत्ति का विवरण
  • मोबाईल नंबर
  • तदाता सूची का क्रमांक तथा प्रतिभूति निक्षेप राशि जमा करने की रसीद 
  • पारिवारिक जानकारी 
  • निर्वाचन कार्ड 
  • आधार कार्ड 

इस समय भर सकते हैं ऑनलाइन फॉर्म 
अभ्यर्थियों को ऑनलाइन फॉर्म भरने में किसी प्रकार की परेशानियों का सामना न करना पड़े इसलिए अधिकारियों को अभी से अभ्यर्थियो को ऑनलाईन लाभ देने के लिए सुविधा केन्द्रों की स्थापना, निर्धारित शुल्क की जानकारी, प्रशिक्षण व्यवस्था और अभ्यर्थियों और रिर्टनिंग ऑफिसर द्वारा की जाने वाली कार्रवाई की जानकारी उपलब्ध कराई जा रही है. सुबह 10 बजकर 30 मिनट से शाम 5 बजकर 30 मिनट तक ऑनलाइन नामांकन जमा किया जा सकता है. ऐसे में निर्वाचन आयोग ने कलेक्टरों ने जिले के हिसाब से आवश्यक तैयारियां करने के निर्देश दे दिए हैं.  

बता दें कि प्रदेश में 23912 ग्राम पंचायत 313 जनपद पंचायत अध्यक्ष और 52 जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए चुनाव कराए जाने हैं. जिसमें पहले ही 2 साल की देरी हो चुकी है आरक्षण प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही पंचायत चुनाव कार्यक्रम घोषित होंगे. उल्लेखनीय है कि पंचायत और स्थानीय निकाय चुनाव ना कराने को लेकर हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को फटकार लगाई थी. जिसके बाद कांग्रेस ने सरकार पर पंचायत चुनाव नहीं कराने का आरोप लगाया था. कांग्रेस ने कहा था कि सरकार हार की वजह से पंचायत चुनाव टाल रही है. हालांकि सरकार ने साफ कर दिया था कि पंचायत चुनाव राज्य निर्वाचन आयोग का विषय है. सरकार तो उनके हिसाब से जब भी कहेंगे चुनाव करवाने के लिए तैयार है. 

ये भी पढ़ेंः MP Panchayat Election: इस वजह से चुनाव की तारीखों के ऐलान में हो रही है देरी

WATCH LIVE TV



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *