भारत में खतरनाक हथियार बेच रहा पाकिस्तान, डिलीवरी के लिए निकाला ये गजब तरीका


नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की साइबर सेल को उस वक़्त बड़ी कामयाबी हाथ लगी, जब बदमाशों को खतरनाक हथियार बेचने के एक अनोखे तरीके का पता चला. 

पुलिस से बचने के लिए अब शातिर लोग सोशल मीडिया का सहारा लेकर ना सिर्फ हथियार बेच रहे हैं बल्कि हथियार की तस्वीर उसकी स्पेसिफिकेशन के साथ फेसबुक और दूसरे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अपलोड कर कर रहे हैं. अवैध हथियारों को इस नए तरीके से बेचने की जानकारी मिलने के बाद स्पेशल सेल की साईपेड ने ऐसे सोशल मीडिया को खंगालना शुरू किया है, जो कुख्यात गैंगस्टरों के नाम पर बनाए गए थे. 

सोशल मीडिया पर बना रखे थे अकाउंट

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की साइपैड यूनिट के डीसीपी केपीएस मल्होत्रा बताया, ‘जांच के दौरान पुलिस को पता चला था कि अवैध हथियार बेचने वाले एक शख्स ने सोशल मीडिया पर कई अकाउंट बनाए हुए थे. उस अकाउंट पर उसने हथियारों की तस्वीरें और वीडियो भी अपलोड की हुई थीं. यह गैंग सोशल मीडिया के अधिकतर प्लेटफार्म को इस्तेमाल कर अवैध हथियार बेच रहा था.’ 

लॉरेंस बिश्नोई के नाम पर मिला ग्रुप

पुलिस ने अपनी जांच में पाया कि उन्होंने गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई के नाम पर भी एक ग्रुप बनाया हुआ था. पुलिस (Delhi Police) ने जब लॉरेंस बिश्नोई के सोशल मीडिया अकाउंट की जांच की तो पता चला कि उसमें और लॉरेंस बिश्नोई नाम से बने ग्रुप में हितेश सिंह नाम का शख्स कॉमन है. पुलिस ने हितेश सिंह के सोशल एकाउंट को खंगाला तो पता चला कि वो अपने इस अकाउंट से भी अवैध हथियार बेच रहा है. पुलिस ने सोशल मीडिया के जरिये ही ट्रैप लगाकर उससे हथियार खरीदने का सौदा किया और फिर गिरफ्तार कर लिया.

साइबर सेल ने अवैध हथियार बेचने वाले गैंग के सरगना हितेश सिंह को राजस्थान से गिरफ्तार किया है. आरोपी हितेश सिंह राजस्थान के जोधपुर का रहने वाला है. हितेश के ऊपर पहले भी दर्जन भर से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं. पुलिस ने उसके पास से 1 सेमी ऑटोमेटिक पिस्टल और दो लाइव कारतूस बरामद किए हैं.

पाकिस्तान के संपर्क में था आरोपी

साइबर सेल के मुताबिक सबसे चौकाने वाली बात यह सामने आई कि हितेश पाकिस्तान (Pakistan) में बैठे कुछ भारत विरोधी लोगों के भी लगातार संपर्क में था. उसने व्हाट्सएप और दूसरे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के वर्चुअल नंबर से उनसे संपर्क बना रखा था. स्पेशल सेल की साइबर सेल अब हितेश से पूछताछ कर उसके पाकिस्तान कनेक्शंस के बारे में पता लगाने में जुटी है. 

जांच एजेंसियों को इस बात का भी शक है कि सोशल मीडिया पर बेचे जाने वाले ये खतरनाक हथियार कहीं पाकिस्तान (Pakistan) में बने हुए तो नही है. वो कौन कौन लोग है जिनके संपर्क में हितेश पिछले काफी समय से है. पुलिस अब हितेश समेत बाकी गैंगस्टर्स का पुराना रिकॉर्ड खंगालने में लगी है. 

LIVE TV



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *