दुनिया का पहला Bitcoin City! यहां नहीं भरना पड़ेगा इनकम टैक्‍स, राष्ट्रपति ने बताई शहर की खासियत


नई दिल्ली: दुनिया बिटक्वाइन (Bitcoin) समेत अन्‍य क्रिप्‍टो करेंसी के लिए क्रेजी हो रही है. अगर आप भी बिटक्वाइन (Bitcoin City el Salvador) के दीवाने हैं तो आपके लिए शानदार खबर है. दक्षिण अमेरिकी देश एल सल्‍वाडोर के राष्‍ट्रपति नईब बुकेले ने यह घोषणा की है कि देश में दुनिया का पहला ‘बिटक्वाइन शहर’ बसाया जाएगा.

इस शहर (Bitcoin City) में कई खासियत होगी. इस शहर में किसी को इनकम टैक्स नहीं भरना होगा. शहर को एक ज्‍वालामुखी से ऊर्जा मिलेगी और क्रिप्‍टो करेंसी बान्‍ड यहां का ‘सोर्स ऑफ इनकम’ होगा. इस ‘बिटक्वाइन शहर’ में आवासीय और व्‍यवसायिक इलाके, सेवाएं, म्‍यूजियम, एयरपोर्ट, बंदरगाह, रेल और मनोरंजन जैसी हर सुविधा होगी. 

राष्‍ट्रपति ने किया ऐलान!

राष्‍ट्रपति नईब बुकेले ने बिटक्वाइन और ब्‍लॉकचेन कान्‍फ्रेंस में यह घोषणा की है. आपको बता दें कि एल सल्‍वाडोर पिछले 2 दशक से अमेरिकी डॉलर को अपनी मुद्रा मानने वाला दुनिया का पहला ऐसा देश है जिसने बिटक्‍वाइन को एक मुद्रा के रूप में कानूनी मान्‍यता दी है. यानी यहां कानूनी रूप से बिटक्वाइन मुद्रा है. बुकेले ने बताया है कि इस बिटक्‍वॉइन शहर को और बिटक्‍वाइन माइनिंग को कोचागुआ ज्‍वालामुखी से एनर्जी मिलेगी.

ये भी पढ़ें- अटक सकते हैं 10वीं किस्त के 4000रुपये! अगर हो गई ये गलती, तो ऐसे करें सुधार

कार्बन का उत्‍सर्जन जीरो

दरअसल, बिटक्‍वाइन माइनिंग के तहत कंप्‍यूटर की मदद से गणतीय चुनौतियों को सुलझा करके नए बिटक्‍वाइन का निर्माण किया जाता है. इस पूरी प्रक्रिया में बड़े पैमाने पर ऊर्जा की आवश्यकता होती है. अल सल्‍वाडोर में कुछ ऊर्जा जिओथर्मल प्‍लांट से आती है. ये टेकापा ज्‍वालामुखी की मदद से ऊर्जा पैदा करता है. राष्‍ट्रपति ने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि इस शहर में कार्बन का जीरो उत्‍सर्जन होगा. यानी यहां प्रदूषण नहीं होगा. यह पूरी तरह से पर्यावरणीय शहर होगा. 

बिटक्‍वाइन शहर होगा शानदार 

राष्ट्रपति ने कहा कि शहर को पहले टेकापा प्‍लांट से चलाया जाएगा फिर बाद में कोंचागुआ प्‍लांट को शुरू किया जाएगा. इस प्रॉजेक्‍ट को फंड करने के लिए एल सल्‍वाडोर 1 अरब डॉलर का बिटक्‍वाइन बॉन्‍ड साल 2022 में जारी करेगा. यानी इस शहर की शुरुआत ही बिटक्वाइन से होगी. ब्‍लॉकस्‍ट्रीम के मुख्‍य रणनीतिकार सैमसन मोउ ने राष्‍ट्रपति के साथ मंच पर यह घोषणा की कि आधा ‘ज्‍वालमुखी बांड’ बिटक्‍वाइन में इस्‍तेमाल किया जाएगा.

ये भी पढ़ें- केंद्रीय कर्मचारियों के नवंबर की सैलरी में होगी बंपर बढ़ोतरी! जान लें पूरा गुणा-गणित

नहीं लगेगा इनकम टैक्‍स

मोउ ने मंच से यह बताया कि बाकी बचा आधा पैसा आधारभूत ढांचे के विकास पर खर्च किया जाएगा. उन्‍होंने बताया, ‘एल सल्‍वाडोर दुनिया का वित्‍तीय केंद्र होने जा रहा है.’ राष्‍ट्रपति ने कहा कि इस बिटक्‍वाइन शहर में रहने वाले लोगों को केवल वैट देना होगा. यानी यहां काभी भी कोई इनकम टैक्‍स नहीं लगेगा. यहां कैपिटल गेन टैक्‍स, प्रॉपर्टी टैक्‍स ,पेरोल टैक्‍स लगेगा ज़ीरो होगा. हालांकि इसका निर्माण कब शुरू होगा और कब यह बन कर तैयार होगा यह अभी तय नहीं हुआ है. 

बिजनेस से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *