भारत के सबसे कमजोर पासवर्ड कौन से हैं? इनमें से आपका कोई Password है तो तुरंत बदलें


नई दिल्ली: क्या आप जानते हैं कि दुनिया में सबसे मज़बूत और सबसे खतरनाक व्यक्ति कौन है? सबसे खतरनाक और मज़बूत व्यक्ति वो है, जिसके मोबाइल फोन में कोई Password नहीं है. 

आज के ज़माने में जिस व्यक्ति का जीवन Password के ताले में कैद नहीं है, उसका शायद ही कोई कुछ बिगाड़ सकता है. लेकिन जिनका जीवन Password के ताले में कैद है और वो भी ऐसे Passwords, जिन्हें एक सेकेंड से भी कम समय में हैक किया जा सकता है तो उनका बहुत कुछ बिगाड़ा जा सकता है.

ये है भारत का सबसे कमजोर पासवर्ड

Password Manage करने वाली एक कंपनी Nordpass ने 2021 के लिए दुनिया के सबसे कमज़ोर Passwords की एक लिस्ट जारी की है. इनमें पहले नंबर पर है 1.2.3.4.5.6. वहीं दूसरे नंबर पर है 1.2.3.4.5.6.7.8.9 और तीसरे नंबर पर है 1.2.3.4.5

भारत की बात करें तो Password ही भारत का सबसे कमज़ोर Password है. भारत में जिन लोगों ने Password की Spelling को ही अपना PassWord बनाया है, उनकी संख्या 17 लाख से ज्यादा है.  

ये पासवर्ड भी हो सकते हैं हैक

इसके बाद 12345, 123456, 123456789 का नंबर आता है. जिन्हें  भारत में 12 लाख, 11 लाख और 2 लाख से ज्यादा लोगों ने अपना पासवर्ड बनाया है. जबकि INDIA 123 को अपना पासवर्ड बनाने वाले लोगों की संख्य़ा 1 लाख 26 हज़ार से ज्यादा है.

इसके अलावा QWERTY और ABC 123 भारत के सबसे कमज़ोर Passwords में शामिल हैं. इनमें से India123 को छोड़ दिया जाए तो बाकी के सभी Passwords को एक सेकेंड से भी कम समय में Crack किया जा सकता है.India123 को Crack करने में औसतन 17 मिनट लगते हैं.

ये पासवर्ड भी हैं कमजोर 

इसके अलावा भारत में जिन Passwords का सबसे ज्यादा इस्तेमाल होता है उनमें ‘XXX, ‘I LOVE You’, ‘krishna’, ‘Om Sai ram, जय माता दी, बिसमिल्लाह, वाहेगुरु, साई बाबा जैसे Pass Word भी शामिल है. इन्हें भी कुछ Seconds से लेकर कुछ मिनटों और घंटों में Crack किया जा सकता है.

2021 के इन सबसे कमज़ोर Passwords की लिस्ट 50 देशों में की गई एक Study के आधार पर तैयार की गई है.

एक ज़माना था जब दुनिया घर की सुरक्षा के लिए ताले लगाकर रखती थी, लेकिन अब उसकी जगह Password ने ले ली है. अगर आपके मोबाइल फोन का Password किसी ने Crack कर लिया तो, आपकी निजी जिंदगी से लेकर आपके Bank Accounts तक के सारे ताले टूट जाएंगे. पहले आप कहते थे कि ताला जितना भारी भरकम हो उतना अच्छा है. अलीगढ़ के ताले इस मामले में काफी मशहूर थे, फिर इलेक्ट्रोनिक ताले आने लगे, जिन्हें password की मदद से और सुरक्षित बनाया जा सकता है. हालांकि जिस Password का इस्तेमाल आप अपने मोबाइल फोन, लैपटॉप, टैबलेट या ऐसे ही दूसरे Digital Devices के लिए करते हैं, वो शायद इतने मज़बूत नहीं हैं.

300 करोड़ पासवर्ड चुराए गए

सिर्फ 2016 में ही दुनिया भर के 300 करोड़ से ज्यादा Password चुरा लिए गए थे. यानी Hackers हर दिन 8 लाख पासवर्ड आसानी से चुरा लेते हैं. IT Experts मानते हैं कि सात Characters का पासवर्ड एक सेकेंड से भी कम समय में हैक किया जा सकता है, 9 Characters का पासवर्ड 5 दिनों में और 10 Characters का 4 महीनों में हैक किया जा सकता है. 

ये भी पढ़ें- भारत को जरूरत से ज्यादा लोकतंत्र पड़ा भारी, हार गई सुधारों की ‘राजनीति’

अगर आप चाहते हैं कि आपका Password 200 वर्षों तक भी कोई Crack ना कर पाए तो आपको इसे कम से कम 12 Characters का बनाना होगा. इन Characters का Combination भी ऐसा होना चाहिए, जिसका अनुमान लगाना मुश्किल हो. इसमें आपको Alphabets के अलावा Special Symbols और नंबरों का भी इस्तेमाल करना चाहिए.

अब पासवर्ड लेस होने जा रही दुनिया

हालांकि यहीं से परेशानी भी शुरू होती है. मुश्किल पासवर्ड को याद रखना भी मुश्किल होता है और आसान पासवर्ड आसानी से चुराया जा सकता है. इसलिए अब कंपनियां Passwordless भविष्य की तरफ देख रही है और इसकी शुरुआत भी हो चुकी है. अब पासवर्ड की जगह आपकी आंखों के Scan, चेहरे की पहचान और उंगलियों और अंगूठे के निशान यानी Finger Prints का इस्तेमाल इसके लिए होने लगा है. अगर आप नहीं चाहते कि कोई आपका अकाउंट हैक कर ले तो अपना पासवर्ड हर 3 महीने में बदलते भी रहिए.

LIVE TV



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *