Petrol-Diesel Price: पेट्रोल-डीजल के दाम फिर होंगे कम! क्रूड ऑयल की कीमत में भारी गिरावट, देखें नए रेट्स


नई दिल्ली: Petrol Price Today: बढ़ती महंगाई से परेशान आम जनता के लिए राहत भरी खबर आ सकती है. त्योहारी सीजन में पेट्रोल-डीजल की कीमत में कटौती के बाद अब एक बार फिर से फ्यूल के दाम गिरने के आसार नजर आ रहे हैं. गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने दिवाली के एक दिन पहले पेट्रोल पर 5 रुपये प्रति लीटर जबकि डीजल पर 10 रुपये घटाया था. 

गिर सकती है फ्यूल की कीमत!

दरअसल, कोविड संक्रमण के कारण पिछले साल अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट आई थी. एक बार फिर कोविड संक्रमण में तेजी देखी जा रही है और इसी वजह से तेल के दामों में कमी देखने को मिल रही है. आपको बता दें कि बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड (Brent crude) 6.95 प्रतिशत गिरकर 78.89 डॉलर प्रति बैरल हो गया, जो 10 दिन पहले 84.78 डॉलर प्रति बैरल था.

ये भी पढ़ें- 10 साल से बड़े बच्चों का खोलें खाता, पढ़ाई के लिए हर महीने मिलेंगे 2500 रुपये

आम जनता को मिलेगी राहत

राज्य द्वारा संचालित तेल कंपनियों ने ऑटोमोबाइल ईंधन पर मुनाफा कमाया है. वैश्विक स्तर पर तेल बाजारों में गिरावट के ट्रेंड की स्टडी के बाद पता चला कि पिछली बार जब कोविड संक्रमण अपने चरम पर था तो ईंधन की कीमतों में गिरावट दर्ज की गई थी. यानी कोविड संक्रमण बढ़ने के साथ ही मांग में कमी दिख रही है. फिलहाल अनुमान लगाया जा रहा है कि आम आदमी को जल्द ही तेल की कीमतों में कटौती देखने को मिल सकती है. आइए जानते हैं देश के 4 महानगरों में आज के रेट्स. 

पेट्रोल-डीजल के आज के दाम

शहर                पेट्रोल/प्रति लीटर              डीजल/ प्रति लीटर 
दिल्ली                103.97                         86.67  
मुंबई                  109.98                         94.14  
चेन्नई                  101.40                         91.43 
कोलकाता           104.67                         89.79 

ये भी पढ़ें- Rakesh JhunJhunwala के निवेश वाला ये शेयर लगा सकता है लंबी छलांग! देगा बंपर रिटर्न, क्या आपके पास है?

4 नवंबर से स्थिर है कीमत 

गौरतलब है कि भारत में 4 नवंबर से ऑटोमोटिव ईंधन की खुदरा कीमतें स्थिर हैं. केंद्र सरकार ने 3 नवंबर को पेट्रोल और डीजल पर 5 रुपये और 10 रुपये प्रति लीटर की कटौती की थी. इसके बाद, दिल्ली में पेट्रोल के दाम पिछले 18 दिनों से 103.97 रुपये प्रति लीटर और डीजल 86.67 रुपये प्रति लीटर पर स्थिर है. यानी इसके बाद, फ्यूल की कीमत में कोई बढ़ोतरी या कटौती नहीं हुई है. 

क्या कहते हैं एक्स्पर्ट्स?

एक्सपर्ट मानते हैं कि इस समय जब अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमत घट रही है तो सरकारी तेल विपणन कंपनियों को आम जनता को इसका लाभ देना चाहिए क्योंकि उन्हें पेट्रोल और डीजल की खुदरा कीमतों में रोजाना संशोधन करना होता है. ऐसे में, आम जनता को राहत मिलेगी. 

योजना आयोग में विशेष ड्यूटी पर तैनात एक पूर्व अधिकारी का कहना है कि चूंकि कच्चे तेल की कीमतें लगातार गिर रही हैं और आगे भी इसके गिरने की संभावना है, इसलिए भारत की तेल विपणन कंपनियों को भी उपभोक्ताओं को राहत देना चाहिए. दरअसल, कुछ महीनों के भीतर ही भारत में ईंधन की कीमतों में अभूतपूर्व बढ़ोतरी देखी गई है.

बिजनेस से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *