पशुपालन मंत्री कटारिया ने केंद्रीय पशुपालन राज्य मंत्री से लंपी को महामारी घोषित करने की रखी मांग


Jaipur: कृषि और पशुपालन मंत्री लालचंद कटारिया ने गुरुवार को जयपुर एयरपोर्ट पर केंद्रीय पशुपालन राज्य मंत्री संजीव बालियान से मुलाकात कर राज्य में गौवंश में फैली लंपी स्किन बीमारी की स्थिति से अवगत कराया और प्राकृतिक आपदा अन्‍तर्गत इसे महामारी घोषित कर पशुपालकों को राहत पहुंचाने का आग्रह किया.

लम्पी स्किन डिजीज की रोकथाम के लिए निरंतर कार्य जारी- मंत्री लालचंद कटारिया
मंत्री लालचंद कटारिया ने केंद्रीय राज्य मंत्री को बताया कि राज्य सरकार गौवंशीय पशुओं में लम्पी स्किन डिजीज की रोकथाम के लिए निरंतर कार्य कर रही है. नए पशु चिकित्सक एवं पशुधन सहायक लगाने के साथ ही अब तक करीब 15 लाख गौवंशीय पशुओं का टीकाकरण और 13 लाख से अधिक पशुओं का उपचार किया जा चुका है.

 उन्होंने बताया कि टीकाकरण में तेजी लाते हुए एक ही दिन में 95 हजार गायों में टीकाकरण किया गया है. उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने औषधियां एवं वैक्सीन खरीदने के लिए 30 करोड़ रूपये का अतिरिक्त आवंटन किया है. राजस्थान में 46 लाख गोट पॉक्स वैक्सीन खरीदने की कार्यवाही प्रक्रियाधीन है, जिसमें से 16 लाख वैक्सीन मिल गई है.

प्राकृतिक आपदा अन्‍तर्गत महामारी घोषित करने का आग्रह किया है
उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को 29 अगस्त को पत्र लिखकर लम्‍पी स्किन डिजीज को प्राकृतिक आपदा अन्‍तर्गत महामारी घोषित करने का आग्रह किया है ताकि पशुपालकों और गौशालाओं को इस बीमारी से मरने वाले गोवंश का मुआवजा दिलवाकर पशुपालकों को राहत प्रदान की जा सके. उन्होंने इस संबंध में केंद्रीय पशुपालन मंत्री से सहयोग की अपेक्षा करते हुए महामारी घोषित करवाने का आग्रह किया. उन्होंने वैक्सीन की आपूर्ति में भी पहले की तरह सहयोग करते हुए उपलब्धता सुनिश्चित करने का आग्रह किया.

ये भी पढ़ें- मुख्यमंत्री गहलोत का नहीं छूट रहा कुर्सी का मोह, लंपी की नहीं है चिंता -भाजपा सांसद

केंद्रीय राज्य मंत्री संजीव बालियान ने केंद्र सरकार की ओर से लंपी स्किन बीमारी से निपटने के लिए राज्य को हरसंभव सहयोग के लिए आश्वस्त किया.





Source link

Author: admin