Rajsamand: कुपोषण मुक्त करने के लिए मिशन मोड में कार्य करने की जरूरत-कलेक्टर सक्सेना


Rajsamand: कलेक्टर नीलाभ सक्सेना ने महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा राष्ट्रीय पोषण मिशन के तहत जिला पोषण अभिसरण समिति की बैठक में उपस्थित अधिकारियों को सम्बोधित किया. इस अवसर पर उन्होने कार्यक्रम की समीक्षा करते हुए कुपोषित बच्चों की स्थिति में सुधार लाने पर जोर दिया. तथा कहा कि जिले को कुपोषण मुक्त करने के लिए जिले को एनिमिया मुक्त करने के लिए आंगनबाड़ी केंद्रों पर संबंधित पीएचसीए सीएचसी से एएनएम को बुलाकर बच्चों की हीमोग्लोबिन जांच कराएं और आयरन की गोली और सिरप पिलाई जाये.

यह भी पढ़ें:  पड़ोसी का बहू से हो रहा था झगड़ा, बीच में बोलने पर पति और ससुर को कुल्हाड़ी से पीटा

इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास विभाग के उप निदेशक नंदलाल मेघवाल द्वारा गत तिमाही में किए गए कार्यों की प्रगति को प्रस्तुत किया. बैठक में अति. जिला कलेक्टर रामचरन शर्मा ने प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, इंदिरा गांधी मातृत्व योजना, आई एम उड़ान योजना को प्रभावी बनाने के लिए विकास अधिकारी, बाल विकास परियोजना अधिकारी एवं महिला पर्यवेक्षकों को निर्देश दि. इस अवसर पर बैठक में राष्ट्रीय पोषण मिशन के तहत पोषाहार वितरण एवं आगनबाड़ी केंद्रों की रियल टाइम मोनिटेरींग हेतु पोषण ट्रैकर एप्प के उपयोग एवं विभागीय कार्य हेतु जिले की सभी आगनबाड़ी कार्यकर्ताए महिला पर्यवेक्षकों को ब्रांडेड स्मार्टफोन का आवंटित किया जा रहा है. इस अवसर पर जिला कलेक्टर द्वारा 5 कार्यकर्ता को मोके पर स्मार्टफोन देकर शुभारम किया गया. इस दौरान सीईओ उत्साह चौधरी, सीडीपीओ राजसमंद रेलमगरा खमनोर आमेट देवगढ़ एवं पोषण अभियान के कार्मिक उपस्थित रहे.

यह भी पढ़ें: हाईवे पर दलित युवक का शव मिलने से सनसनी, परिजन बोले- हत्या हुई है, शव नहीं लेंगे

ई-मित्र संचालक ने अकेली लड़की को छेड़ा, नाखून चुभाए, रात को मैसेज कर बोला- आ रहा हूं

जेल गया तो पुरानी गैंग टूटी, छूटकर बाहर नई गैंग बनाई और पांच किलो चांदी चोरी कर ली





Source link

Author: admin